यूपी में मिली लाश का कैसे जुड़ा छत्तीसगढ़ में कनेक्शन, देश के दो बैच मेट आईपीएस अफसरों ने खोज निकाला मृत बुजुर्ग के घर वालों को, जानिए बीस साल पुरानी शर्ट का मसला.

बिलासपुर. कई बार थाने की पुलिस क्षेत्र की सरहद में लेकर आपस में भिड़ जाती है ऐसे कई मामले सामने आते हैं जिसमे ये मेरा वो तेरा थाना क्षेत्र की उलझन में थाना इंचार्ज के बीच आपसी तनातनी भी हो जाती है। लेकिन खाकी वर्दी का फर्ज निभाने वाला एक मामला सामने आया है वो भी दूर दराज मलतब दूसरे राज्य का, जिले के एक देहात थाना क्षेत्र में अपनी पत्नी के साथ रहने वाले बुजुर्ग ने अज्ञात कारणों से यूपी जाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली,उसकी पहचान के इधर उधर हाथ पैर मार रही यूपी सरकार में लेडी ट्रेनी आईपीएस को अचानक मृतक की शर्ट पर एक टैंग नजर आया और सारा दारोमदार आ गया छत्तीसगढ़ में नौकरी कर रहे एक युवा आईपीएस के कंधो पर और आखिरकार दोनों बैच मेट अफसरों की मेहनत से मृतक के परिजनों से मुलाकात के बाद उसकी पहचान हो पाई।

जरा सोचिए कि अगर किसी के घर का कोई बुजुर्ग घूमने जाने का बोल कर घर से निकले और वापस ही न तो, मिली जानकारी के अनुसार मस्तूरी थाना क्षेत्र के मल्हार चौकी निवासी गजबदन सिंह 75 वर्षीय 29 मई को अपनी पत्नी और बेटे को घूमने जा रहा हूं बोलकर घर से निकला था। उसके बाद वह घर वापस ही नही लौटा, घर के बुजुर्ग की तलाश में पहले तो उसके बेटे ने इधर उधर पूछताछ की लेकिन जब कुछ भी पता न चला तो उसने मल्हार चौकी में अपने पिता की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी।

(मृतक गजबदन सिंह)

न जाने कैसे गजबदन सिंह यूपी के मथुरा पहुंच गया और रविवार को फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। घटना के बाद यूपी सरकार में लेंडी ट्रेनी आईपीएस ट्विंकल जैन मृतक शिनाख्तगी की कोशिश में लगी थी कि अचानक उनकी नजर मृतक की शर्ट पर लगे एक टेलर के टैग पर पड़ी,जो छत्तीसगढ़ के बिलासपुर का निकला, जिसके बाद फ़ौरन लेडी आईपीएस अफसर ने जिले के रतनपुर थाने का चार्ज संभाल रहे अपने बैच मेट ट्रेनी आईपीएस अजय कुमार से संपर्क साधा और घटना की जानकारी दी इधर आईपीएस अजय कुमार ने बिना थाना क्षेत्र की सरहद का लाग लपेट किए विक्रम टेलर की खोजबीन करने शहर के थाना प्रभारियो से कनेक्ट हुए और कोतवाली टीआई विजय चौधरी की मदद से विक्रम टेलर की टिकरापारा स्थित दुकान तक पुलिस पहुंच गई।

ट्रेनी आईपीएस अजय कुमार ने बताया कि विक्रम टेलर की दुकान बन्द थी जिसे फोन कर थाने बुलवाया गया। पूछताछ में दुकान संचालक ने मृतक को तो नही पहचाना मगर पुलिस को बताया कि शर्ट का टैग लगभग 20 साल पुराना है वही मृतक के बिलासपुर निवासी होने के आभास पर अज्ञात शव की पहचान के लिए उसकी फोटो जिले के सभी थाना और चौकियों में सर्कुलेट की गई और काफ़ी मशक़्क़त के बाद मृतक की पहचान थाना मस्तूरी के मल्हार पुलिस चौकी में दर्ज गुम इंसान गजबदन सिंह 75 वर्ष के रूप में हुई। जिसके बाद मृतक व्यक्ति के परिजनों को सूचना देकर शव की सौंपा गया।

मैने बस अपना काम किया. आईपीएस कुमार.

इस घटना को लेकर ट्रेनी आईपीएस अजय कुमार ने कहा कि मृतक के सुसाइड करने का कारण फिलहाल क्लियर नही हो पाया है। काफी समय पहले से वह अपनी पत्नी और बेटे के साथ मल्हार में निवास कर रहा था। मृतक की पत्नी की मानसिक स्थिति ठीक नहीं होना बताया जा रहा है और वह कैसे यूपी पहुंच गया समझ नहीं आ रहा है फिलहाल उसका बेटा भी कुछ बता पाने की स्थिति में नहीं है। पहले जब आईपीएस ट्विंकल जैन ने मुझसे संपर्क किया तो उन्हे यह क्लियर नही था कि बिलासपुर हिमाचल प्रदेश वाला है या छत्तीसगढ़ का, फिर हमने अपनी कोशिश शुरू की और धीरे धीरे सब कुछ सामने आ गया। एक बैच मेट और खासकर पुलिस अफसर होने के नाते मैने बस अपना काम किया है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *