चोरों को पकड़ने में पुलिस को मिल रही सफलता, लेकिन चोरी का माल खरीदने वाले पर मेहरबानी क्यों

डोंगरगढ़। राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ में लगातार चोरी की घटनाओं में कार्यवाही के बावजूद चोरी की घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही। ताजा मामला शहर के भीमनगर का है, जहां प्रार्थियां ममता इंदुरकर के घर से डेढ़ लाख के गहने चोरी होने का मामला सामने आया है। पूरे मामले में पुलिस ने एक नाबालिग सहित उसके सहयोगी दोस्त रौनक राजपूत को गिरफ्तार किया है

पुलिस की माने तो आरोपी ने यारी दोस्ती में पैसे खर्च करने के लिए चोरी की घटना को अंजाम दिया था। चोरी का आधा सोना-चांदी को आरोपियों ने एक गोल्ड लोन कंपनी में गिरवी रखा था तो वहीं चोरी के कुछ आभूषणों को शहर के एक ज्वेलर्स को बेच दिया। हालांकि पुलिस ने चोरी के सोना चांदी को बरामद कर लिया है।

शहर में सोना चांदी की इस दूसरी चोरी में भी चोरी का माल उसी ज्वेलर्स को ही बेचा गया, बीते दिनों भी नाबालिग के साथ मिल कर चुराए जेवरात इसी ज्वेलर्स में बेचे थे। लेकिन दोनों ही बार पुलिस ने इस ज्वेलर्स को कार्यवाही से दूर रखा। चोरी के आभूषण खरीदने में इसी माह में दो बार इस संस्थान का नाम आने के बाद भी पुलिस ने उक्त ज्वेलर्स को कार्यवाही से दूर रखा है, जो कही न कही पुलिसिया कार्यवाही पर सवाल खड़े करता है। फिलहाल मामले में पुलिस ने नाबालिग और उसके सहयोगी रौनक राजपूत को गिरफ्तार कर लिया है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *