साल अंतिम में MLA पाण्डेय का एक और प्रयास- नगरवासियों की मांग होगी पूरी,बी ग्रेड सिटी की अधिसूचना जल्द होगी जारी.

प्रस्ताव- राज्य सरकार ने नगर निगम सीमा विस्तारीकरण परिसीमन रिपोर्ट एवं बी ग्रेड सिटी बनाने का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा.

चर्चा- नगर विधायक शैलेष पांडेय ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल नगरीय प्रशासन मंत्री शिव कुमार डहरिया एवं विभागीय सचिव अलरमेलमंगई डी से की चर्चा.

आरोप- बीजेपी नहीं चाहती थी बिलासपुर को बी ग्रेड सिटी का दर्जा मिले शैलेष पांडेय.

बिलासपुर. नगर विधायक शैलेष पांडेय ने नगर निगम सीमा विस्तारीकरण एवं शहर को बी ग्रेड सिटी बनाने को लेकर कहा कि नगर के लोगों की मांग जल्द पूरी होने जा रही है। शहर को बी ग्रेड सिटी बनाने के लिए राज्य शासन ने विस्तृत जानकारी केंद्र शासन को भेज दी है। अधिसूचना जारी होने के बाद बिलासपुर को बी ग्रेड सिटी का दर्जा मिल जाएगा।

बिलासपुर में संचालित केंद्र व राज्य शासन के उपक्रम जिनकी गिनती लाभ अर्जित करने और राजस्व देने में देश के अग्रणी संस्थानों में होती है। जिला मुख्यालय में गुरु घासीदास केंद्रीय विवि जैसे उच्च शिक्षण संस्थान होने के अलावा एसईसीएल का मुख्यालय और एनटीपीसी जैसे बिजली उत्पादन करने वाली इकाई कार्यरत है।

इसके अलावा बिलासपुर के खाते में अनेक उपलब्धियां हैं। सबसे कमाऊ रेलवे जोन, ऊर्जा का बड़ा स्रोत एसईसीएल, एनटीपीसी, सहित उच्च शिक्षा के लिए गुरू घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय भी हमारे पास है। इसके साथ बिलासपुर शहर अब हवाई सुविधा से सीधे जुड़ गया है। उच्च शिक्षा के लिए केंद्रीय विश्वविद्यालय भी बिलासपुर में स्थापित है।

केंद्र से लेकर राज्य सरकार तक चर्चा. पाण्डेय.

विधायक पांडेय ने कहा कि बिलासपुर को बे ग्रेट सिटी का दर्जा मिले इसके लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल नगरीय प्रशासन मंत्री शिव कुमार डहरिया एवं विभागीय सचिव अलरमेलमंगई डी से लगातार संपर्क में रहे। उन्होंने भारत सरकार से बात की और वहां से जानकारी मिलने के बाद कहा गया कि अभी सेंसेक्स के द्वारा जनगणना चल रही है जनगणना की रिपोर्ट आने के बाद बिलासपुर को बी ग्रेड सिटी बनाने की अधिसूचना जारी की जाएगी।

नगर विधायक ने कहा कि बिलासपुर शहर छत्तीसगढ़ राज्य का दूसरा बड़ा शहर है। जिसे न्यायधानी के नाम से भी जाना जाता है। नगर निगम विस्तारीकरण से आसपास के 15 गांवों सहित नगर पालिका एवं नगर पंचायत को नगर निगम सीमा क्षेत्र में शामिल किया गया ताकि गांव का भी विकास शहर के दर्जे का हो सके।

बीजेपी पर निशाना.

श्री पाण्डेय ने आरोप लगाया है कि भाजपा कभी नहीं चाहती थी कि बिलासपुर बी ग्रेड सिटी बने भाजपा नेताओं के द्वारा नगर निगम सीमा विस्तारीकरण एवं बिलासपुर को बी ग्रेड सिटी का दर्जा मिलने को लेकर लगातार विरोध किया गया। लेकिन हमने लोगों से किया वादा निभाया और बिलासपुर को बी ग्रेड सिटी का दर्जा मिले इसके लिए विधानसभा तक आवाज उठाई और भारत सरकार तक बात पहुंचाई।

कलेक्ट्रेट का घेराव कर नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, विधायक कृष्णमूर्ति बांधी, रजनीश सिंह, पूर्व महापौर किशोर राय ने लगातार विरोध प्रदर्शन किया और कहा था कि हमें नगर निगम सीमा क्षेत्र में नहीं आना है। लेकिन इनके विरोध के बाद भी बिलासपुर को बी ग्रेड सिटी बनाने के लिए नगर निगम की सीमा का विस्तारीकरण करना जरूरी था

विधायक पांडेय ने कहा कि बिलासपुर नगर निगम की सीमा 2019 के पहले कम थी लेकिन वर्ष 2019 में सीमा क्षेत्र का विस्तार किया गया है और अब बिलासपुर नगर निगम की आबादी सात लाख से अधिक हो गई है। हमने राज्य शासन के द्वारा बी ग्रेड दर्जा देने की सारी प्रक्रिया पूर्ण कर केंद्र सरकार को भेजा है।

योजनाओं और सुविधाओं का मिलेगा लाभ.

बिलासपुर शहर को बी श्रेणी का दर्जा मिलने की स्थिति में यहां की आम जनता, अधिकारी-कर्मचारी, व्यापारी सहित सभी लोगों को शासन सहित अन्य सभी सुविधाओं का सीधा और सरल तरीके से लाभ मिलने लगेगा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *