दरियादिली- स्कूली बच्चों के जूतों लिए विधायक पाण्डेय ने दिया एक माह वेतन, कहा इंग्लिश मीडियम स्कूल सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट.

मुख्य बातें.

छात्र-छात्राओं की मांग पर विधायक पाण्डेय की घोषणा कहा अंग्रेजी माध्यम स्कूल सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट

विधायक निधि से कंप्यूटर और प्रिंटर के लिए रामदुलारे दुबे स्कूल को दिया 5 लाख.

बिलासपुर. शहर के सरकारी स्कूल में एक कार्यक्रम में शिरकत करने गए नगर विधायक शैलेश पाण्डेय की सजन्नता और दरियादिली की मिसाल देखने को मिली। जैसे ही विधायक को पता चला कि स्कूली बच्चों के पास जूतों की कमी है तो उन्होंने तत्काल एक हजार बच्चों के जूतों के लिए अपना एक माह का वेतन देने का फैसला लिया।

नगर विधायक शैलेश पाण्डेय ने छात्र-छात्राओं की मांग पर पंडित राम दुलारे दुबे शासकीय बालक शाला को स्वामी आत्मानंद स्कूल बनाने की घोषणा की है। विधायक ने कहा है कि मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप शासन का ड्रीम प्रोजेक्ट के अंतर्गत पंडित राम दुलारे दुबे शासकीय बालक स्कूल सरकंडा को स्वामी आत्मानंद स्कूल बनाया जाएगा। उन्होंने शाला के सांस्कृतिक एवं पाठयको उत्तर कौशल विकास प्रतियोगिता का शुभारंभ करते हुए विजेता टीम को पुरस्कार बांटे।

स्कूल के विकास के लिए कोई कमी नही होगी.विधायक.

इस अवसर पर विधायक शैलेश पाण्डेय ने बालक सरकंडा स्कूल मे कंप्यूटर तथा प्रिंटर एवं अन्य सामग्री अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी के लिए 5 लाख की राशि देने की घोषणा की। साथ ही स्कूल के 1000 बच्चों के जूतों के लिए एक लाख की राशि दी है। स्कूल की प्राचार्य रीता तिवारी की मांग पर विधायक ने कहा है कि स्कूल परिसर में बेजा कब्जा हटाने तथा साइकिल स्टैंड बनाने एवं अन्य कार्यों के लिए पैसे की कोई कमी नहीं होगी। सरकंडा बालक स्कूल के बच्चों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया । इस अवसर पर विधायक पाण्डेय ने कहा कि स्कूल के बच्चे अच्छे से पढ़ाई करें और शहर एवं माता-पिता का नाम रोशन करें । उन्होंने शाला की जमीन पर बेजा कब्जा हटाने तथा साइकिल स्टैंड बनाने की भी घोषणा की है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *