MLA पांडेय से अभद्रता करने वाले जुआरी ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष की हरकत पर पीसीसी ने टेढ़ी की नजर, जांच बिठा तीन दिन के भीतर रिपोर्ट पेश करने कहा..

बिलासपुर. शहर में सीएम भूपेश बघेल के एक दिवसीय दौरे के दौरान न्यू सर्किट हाउस में नगर विधायक शैलेश पांडेय से ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष तैय्यब हुसैन के द्वारा अभद्र व्यवहार करने का मामला अब तूल पकड़ रहा है। विधायक से भरे कांग्रेसियों के बीच इस तरह का व्यवहार करने की शिकायत रायपुर तक पहुचने के बाद अब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने इस मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए तीन सदस्यों की देख रेख में जांच बिठा दिया है।

आपराधिक पृष्ठ भूमि से राजनीति में आकर पार्षद चुनाव हार चुके ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष तैय्यब हुसैन की मुश्किलें बढ़ सकती है। 4 जनवरी को सीएम के न्यू सर्किट हाउस में आगमन से पूर्व नगर विधायक पांडेय से तैय्यब हुसैन के द्वारा की गई अभद्रता को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने पूरे घटनाक्रम को संज्ञान में लिया है। कुछ ही देर पहले श्री मरकाम के निर्देश पर फरमान जारी किया गया है। जिसमें पीसीसी के चुन्नीलाल साहू उपाध्यक्ष, कन्हैया अग्रवाल महामंत्री और पीयूष कोसरे को इस मामले की गंभीरता से जांच करने का जिम्मा सौंपा है। जांच समिति की टीम को तीन दिन के भीतर प्रदेश आलाकमान को अपनी रिपोर्ट देना होगा।

प्रदेश के संगठन इंचार्ज महामंत्री चंद्रशेखर शुक्ला के द्वारा जारी किए गए फरमान के बाद जिले की राजनीति एक बार फिर गरमा गई हैं।

हुसैन के जुआ फड़ को लेकर चर्चा..

वैसे तो तैय्यब हुसैन की उनके ही क्षेत्र में कोई खास राजनीति पकड़ नही है। पार्षद चुनाव में हार का सामना कर चुके तैय्यब हुसैन शहर की राजनीति के एक अलग धड़े से ताल्लुक रखते हैं इसलिए उनकी थोड़ी बहुत पूछ परख बनी हुई है। विधायक से अभद्रता करने के बाद सोशल मीडिया पर उनके जुआ फड़ की खबर जोरो पर चल रही है। जिसमें अरपापार के कांग्रेस नेता राजेश शुक्ला समेत अन्य लोगों की थाने में खड़े दिख रहे हैं।जुआ के अलावा तैय्यब हुसैन के खिलाफ सिविल लाइन और अन्य थानों मामले दर्ज हो चुका है। राज्य में कांग्रेस की सत्ता होने की वजह से भले उनके गिरेबान में पुलिस हाथ नही डाल रही मगर ऐसा माना जा रहा है कि विधायक पांडेय से उलझना हुसैन के लिए भारी न पड़ जाए। सरकंडा थाना अंतर्गत एक कॉलोनी में जुआ खेलते पकड़ाने की खबर हालांकि पुरानी है वही पुलिस अधिकारियों ने भी बताया कि उक्त मामला ताजा नही है और न ही कोई रेड की गई है।

समाज मे आक्रोश..

विधायक पांडेय के साथ कांग्रेस संगठन द्वारा लगातार उपेक्षा किए जाने का यह कोई मामला नही है। बीजेपी के कद्दावर मंत्री अमर अग्रवाल को हरा कर नगर विधायक बने शैलेश पांडेय को शुरू से ही संगठन पचा नही पा रहा है। शिक्षाविद और सरल स्वभाव के विधायक के साथ ब्लॉक अध्यक्ष बन अपनी औकात भूल चुके तैय्यब हुसैन के द्वारा अभद्रता करने के बाद ब्राम्हण समाज के अलग अलग हिस्सों में आक्रोश पनप रहा है। सामाजिक ग्रुप में इस बात को लेकर अच्छी बहस छिड़ी हुई है वही जल्द ही एक बैठक बुला कर आगे की रणनीति तैयार की जा रही है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *