OMG: सेंट्रल जेल में कैदियों को डिहाइड्रेशन – लूज मोशन से मचा हाहाकार इधर ‘OMG’ से बोले जेल डीजी मिश्रा.

बिलासपुर. सेंट्रल जेल में भोजन की बत्तर क्वालिटी कैदियों की थाली में आने से जेल की चार दिवारीयों के भीतर डिहाइड्रेशन और लूज मोशन से हाहाकार मचा हुआ है। ‘OMG NEWS’ को सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बीते कुछ दिनों से जेल प्रबंधन जो खाना कैदियों को परोस रहा है उसके चावल से कीड़े और आटे से बदबू आ रहा है। नतीजन पहले कैदियों को एसिडिटी फिर डिहाइड्रेशन और अंत में लूज मोशन से भारी परेशान हैं।

छत्तीसगढ़ राज्य की बिलासपुर सेंट्रल जेल में डिहाइड्रेशन और लूज मोशन से कैदियों के बीच हाहाकार मचा हुआ है। बीते चार पांच दिनों से कैदियों को दिया जाने वाला खाने की क्वालिटी बद से बत्तर हो गई है। ‘OMG NEWS’ को सूत्रो से मिल रही जानकारी के अनुसार पहले से ही सेंट्रल जेल में कैदियों की थाली में दिया जाने वाला भोजन जानवरों की दाना सानी से भी गए बिता होने की खबरे आती रही है। लेकिन इस बार तो हद होने की जानकारी मिल रही है। आरोप लग रहा है कि जेल के एक बड़े साहब संग उनका इंतजाम अली गोदाम इंचार्ज (सिपाही) इस काले खेल को अंजाम दे रहा है।

कैदियों को कीड़े वाला चावल और बदबूदार आटे की रोटी थाली में परोसी जा रही है। जिससे एसिडिटी फिर डिहाइड्रेशन और अंत में लूज मोशन से परेशान कैदियों के बीच अफरातफरी मची हुई है। सेंट्रल जेल की चार दिवारीयों के भीतर प्रबंधन और उनके कुछ खास स्टाफ के द्वारा मनमानी मनमानी का ऐसा प्रकोप है कि घटिया क्वालिटी का भोजन चखने से लगातार बीमार पड़ रहे कैदियों को जेल डॉक्टर से इंजेक्शन लेना पड़ रहा है।

जेल डीजी, कलेक्टर और अन्य अफसरों की अनदेखी का असर.

वो समय कुछ और था जब समय समय पर जेल डीजी, कलेक्टर और जिला प्रशासन के अन्य अफसर जेल का औचक निरीक्षण कर कैदियों का हाल चाल जाना करते थे। तत्कालीन भूपेश सरकार में ऐसे मौके कम ही देखने को मिले जब किसी ने जेल की दहलीज को पार किया हो, बस दिखावे के लिए जिले में किसी काम को लेकर आते जाते जेल डीजी ऊपरी तौर पर सेंट्रल जेल कुछ देर के लिए आ जाया करते थे और जेल प्रबंधन द्वारा पहले से सब कुछ सेट और बेहतर व्यवस्था की संतुष्टि भरा जवाब देते रहे।

जब आईएएस आईपीएस ने देखा था जेल के हालात.

वो दिन अब परे हो गए जब किसी आईएएस और आईपीएस अफसरों ने जेल का निरीक्षण किया था। जिले के पूर्व कलेक्टर सौरभ कुमार और एसपी संतोष कुमार सिंह ने बीते साल 27 अप्रैल को जेल का निरीक्षण कर कैदियों का हाल चाल और चाक चौबंद व्यवस्था का जायजा लिया था। ये वही दिन था जब जिला और पुलिस प्रशासन के दो बड़े अफसरों की फूल बेज्जती कर जेल अधीक्षक खोमेश मंडावी विदाउट ड्रेस के नजर आए थे जबकि एसपी सिंह समेत जेल के बाकी अफसर – स्टाफ ने ड्रेस पहना हुआ था।

मैं तुरंत पता करता हूं – डीजी मिश्रा.

सेंट्रल जेल में घटिया भोजन मिलने से कैदियों के बीच मचे हाहाकार की खबर को लेकर नए जेल डीजी राजेश मिश्रा ने ‘OMG NEWS’ से कहा की फिलहाल मैने ज्वाइन किया है ऐसी कोई बात है तो मैं तत्काल पता करवा सभी व्यवस्था ठीक करवाता हूं।

जेल अधीक्षक मंडावी से नही हुआ संपर्क.

इस बारे में जेल अधीक्षक खोमेश मंडावी से उनके मोबाइल नंबर पर कई बार संपर्क किया गया। लेकिन खबर उनका मोबाइल स्विच्ड ऑफ आ रहा था।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *