जेल में मौतों से सरकार का इंकार, MLA पाण्डेय के सवाल पर गृहमंत्री साहू ने क्या दिया जवाब, पढ़िए पूरी खबर.

रायपुर. शुक्रवार को विधानसभा में तीसरे मानसून सत्र में प्रश्नकाल के दौरान बिलासपुर जेल में चल रही कारगुजारियों को लेकर कांग्रेस विधायक शैलेष पाण्डेय ने अपनी ही सरकार को घेरा,विधायक पाण्डेय ने बीते दिनों ‘OMG NEWS NETWORK की खास पड़ताल क्रमशः जेल सुधार नही यातना गृह’ की खबरों को संज्ञान में लिया और गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू से जेल में कैदियों की मौतों का आंकड़ा,कारण और इन मौतों के जिम्मेदार केंद्रीय जेल प्रबंधन पर कारवाई की जानकारी मांगी।

विधायक पाण्डेय के अचानक इस तेवर के बाद गृहमंत्री साहू ने जवाब दिया कि केन्द्रीय जेल बिलासपुर में कुल 35 बंदियों की मृत्यु जेल के बाहर सिम्स और अपोलो अस्पताल में बीमारी की वजह से हुई है और किसी भी जेल अधिकारी- कर्मचारी के खिलाफ कारवाई नही की गई है।

सवाल- शैलेष पाण्डेय विधायक.

क्या गृह मंत्री महोदय यह बताने की कृपा करेंगे कि बिलासपुर के सेंट्रल जेल में 1 जनवरी 2019, से 31 मई, 2022 के बीच कुल कितने कैदियों की मौत हुई,मौत के कारण क्या रहे हैं और दोषियों पर क्या कार्रवाई की गई।

जवाब- ताम्रध्वज साहू गृहमंत्री.

01 जनवरी, 2019 से 31 मई, 2022 के बीच केन्द्रीय जेल बिलासपुर में जेल के अंदर किसी भी बंदी की मृत्यु नहीं हुई है। केन्द्रीय जेल बिलासपुर में परिरूद्ध कुल 35 बंदियों (27 दण्डित बंदी एवं 08 विचाराधीन बंदी) की मृत्यु जेल के बाहर छत्तीसगढ़ आयुर्विज्ञान संस्थान एवं अपोलो अस्पताल में हुई है। बंदियों की मृत्यु बीमारी की वजह से हुई है। किसी भी जेल अधिकारी एवं कर्मचारी के विरूद्ध कोई कार्यवाही नहीं की गई है।

मालूम हो कि ‘OMG NEWS NETWORK’ ने बिलासपुर सेंट्रल जेल के भीतर अफसरशाही और उनके गुर्गों के काले कारनामों की एक के बाद एक सीरीज पाठकों तक पहुचाया था, (जो आगे भी निरंतर जारी रहेगा) इसके बाद से ही जेल का कामकाज नजरों में चढ़ने लगा और विधायक पाण्डेय ने भी विधानसभा में जेल की कारगुजारियों को लेकर सवाल दाग दिया। लेकिन बड़ा सवाल यह है कि अब भी जेल प्रबंधन ने सही जानकारी को पर्दे के पीछे रख सरकार को गुमराह करने ने सफल हो गया है।

सीवरेज और अवैध कॉलोनियां भी.

मानसून सत्र के तीसरे दिन विधायक पाण्डेय ने नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया से बिलासपुर की जनता का प्रमुख मुद्दा सीवरेज पर प्रश्न उठाया वही शहर में हो रही अवैध कॉलोनियों के निर्माण को लेकर विधानसभा में विधायक पाण्डेय के प्रश्न करते ही गहमागहमी का माहौल रहा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *