Omg ब्रेकिंग-डॉक्टर की रहस्यमयी गुमशुदगी और पुलिस अफसर की सनसनी..

बिलासपुर. शहर के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में जॉब कर रहे डॉक्टर के रहस्यमयी ढंग से गायब होने का मामला सामने आया है डॉक्टर के परिजन उसकी तलाश कर ही रहे थे कि इसी बीच पुलिस के एक अफसर ने डॉक्टर द्वारा लिखा गया एक सुसाइड नोट को सोशल मीडिया पर वायरल कर खलबली मचा दिया जिसमें एक अग्रवाल दंपत्ती और प्रॉपर्टी डीलर समेत बर्खास्त राजस्व अधिकारी का नाम है जिसमे जमीन की खरीदी को लेकर मानसिक प्रताड़ित करने का डॉक्टर ने सभी पर आरोप लगाया है वही डॉक्टर ने देश के पीएम,प्रदेश के मुखिया,गृह मंत्री, राजस्व मंत्री और डीजीपी समेत पुलिस और प्रशासन के तमाम आला अधिकारियों के नाम सुसाइड नोट छोड़ सनसनी फैला दी है इधर सकते में आई पुलिस ने सिविल लाइन थाने में डॉक्टर की गुमशुदगी दर्ज कर उसकी तलाश के लिए हर पैतरे अपना रही है।

मूलतः पेंड्रा निवासी पेशे से डॉक्टर प्रकाश सुल्तानिया (एमडी मेडिसिन) शुभम विहार कालोनी में रहकर मगरपारा रोड़ स्थित किम्स हॉस्पिटल में पिछले कुछ दिनों से पदस्थ है बुधवार की सुबह वह रोज की तरह हॉस्पिटल के लिए घर से निकले उसके बाद से उनका कोई अता पता नहीं है इससे पूर्व सुबह करीब 11 बजे उनके मोबाईल का लास्ट लोकेशन मसानगंज में बताया था तो वही डॉक्टर की बाइक मिशन अस्पताल रोड़ स्थित मार्क हॉस्पिटल के पास खड़ी मिली डॉक्टर सुल्तानिया के एक परिचित ने बताया कि सुबह हॉस्पिटल जाने की बात कहकर डॉक्टर घर से निकल गए थे जिसके बाद से उनका कहि कोई पता नही चल पा रहा है पेंड्रा से उनके परिजन लगातार इधर उधर संपर्क कर तलाश में जुटे है।

पीएम,सीएम,गृह मंत्री समेत आला अधिकारियों के नाम लिखा सुसाइड नोट..

डॉक्टर के अचानक गायब होने की खबर लगते ही उनके परिजन और मित्रगण उनकी तलाश में अपने अपने स्तर पर जुट गए हैं इधर देर शाम जिले में पदस्थ एक डीएसपी ने पीएम,चीफ जस्टिस,सीएम,गृहमंत्री, राजस्व मंत्री, डीजीपी,कमिश्नर, आईजी,एसपी समेत तमाम लोगों के नाम छोड़ें गए सुसाइड नोट को सोशल मीडिया में वायरल कर खलबली मचा दी जिसके बाद डॉक्टर के परिजनों को पता चला कि उन्होंने सुसाइड नोट लिखा है वही सुसाइडल नोट में डॉक्टर का बाकायदा साइन है और उन्होंने लिखा है कि चांटीडीह सीपत मेन रोड खमतराई मोड़ पर वर्ष 2017 में राजेश अग्रवाल, संगीता अग्रवाल से प्रॉपटी डीलर प्रमोद यादव के माध्यम से जमीन खरीदा था जिसमे बर्खास्त आरआई मथुरा कश्यप का अहम रोल था जमीन के सौदे के बाद से ही सभी मिलकर डॉक्टर को मानसिक रूप से प्रताड़ित करने लगे थे जिससे वह क्षुब्ध होकर ऐसा कदम उठा रहा है वही सुसाइड नोट के अंतिम लाइन में डॉक्टर ने लिखा है कि उनकी मौत की सारी जिम्मेदारी खत में लिखे लोगो की होगी।

परिजनों और दोस्तों को भी थी यही आशंका..

‘OMG NEWS NETWORK’ की पड़ताल में यह बात सामने आई कि जैसे ही डॉक्टर के अचानक गायब होने की खबर लगी उनके परिजनों और दोस्तो को इस बात का अहसास हो गया था कि कहि न कही यह मामला उक्त जमीन से जुड़ा है पहले तो इस मामले में एक पूर्व शराब ठेकेदार का नाम कुछ लोग बता रहे थे मगर पुलिस को मिले डॉक्टर के सुसाइड नोट में कुछ और ही नाम सामने आए है फिलहाल पुलिस हर पहलुओं पर नजर बनाए डॉक्टर की खोजबीन कर रही हैं।

डॉक्टर की तलाश में लगी है पुलिस टीम..एसपी

इस मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी प्रशांत अग्रवाल ने डॉक्टर की खोजबीन के लिए पुलिस टीम को लगाया है उन्होंने बताया कि डॉक्टर के गायब होने के टाइम से लेकर अबतक उनके कॉल रिकॉर्ड और हॉस्पिटल से लेकर जहा जहा उनके मिलने की संभावना है वहा के सीसीटीवी फुटेज चेक कर हर तरीके से उन्हें खोजने का प्रयास किया जा रहा है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *